निफ्टी की दशा-दिशा [शुक्रवार 1 दिसंबर 2017] अंतिम रुख⬇ शाम: 3.30 बजे

पिछला बंद शुक्र का उच्चतम शुक्र का न्यूनतम शुक्र का बंद वास्तविक दायरा
10226.55 10272.70 10108.55 10121.80 10105/10275

तथास्तु

यह शेयर बाज़ार में लंबे समय के निवेश की सेवा है।

निवेश के लिए 3-4 साल हैं काफी

 Posted by at 06:35  Comments Off on निवेश के लिए 3-4 साल हैं काफी
Dec 032017
 
निवेश के लिए 3-4 साल हैं काफी

शेयर बाज़ार को लेकर हमारी धारणा न जाने कब साफ और व्यावहारिक बन पाएगी। मान्यता है कि लंबे निवेश का आदर्श है कि हमेशा के लिए निवेश। लेकिन निवेश कोई सात जन्मों का बंधन नहीं कि बंधे तो बंध गए। हो सकता है कि कंपनी का दमखम समय के साथ चुक जाए। तब उसके साथ […]

निवेशक नहीं, हम बनाते हैं मालिक

 Posted by at 16:02  Comments Off on निवेशक नहीं, हम बनाते हैं मालिक
Nov 262017
 

शेयर बाज़ार में हम अमूमन इसलिए निवेश करते हैं क्योंकि हमें लगता है कि यहां फटाफट धन बनाया जा सकता है। भूल जाते हैं कि शेयर कंपनी का है और लंबे समय में वह तभी बढ़ेगा, जब कंपनी का धंधा बढ़ेगा। ‘तथास्तु सेवा’ इस धारणा से आगे बढ़कर आपको मात्र निवेशक नहीं, बल्कि संभावनाओं से […]

रेटिंग में बराबरी दक्षिण अफ्रीका से!

 Posted by at 15:55  Comments Off on रेटिंग में बराबरी दक्षिण अफ्रीका से!
Nov 192017
 
रेटिंग में बराबरी दक्षिण अफ्रीका से!

अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज़ ने भारत की संप्रभु रेटिंग बीएए3 से एक पायदान उठाकर बीएए2 कर दी है। ब्रिक्स देशों में चीन की रेटिंग भारत से ऊपर और ब्राज़ील व रूस की रेटिंग भारत से नीचे है। वहीं दक्षिण अफ्रीका की रेटिंग इसी जून तक बीएए2, यानी हमारे अभी के बराबर हुआ करती थी, जिसे […]

रिस्क चरम पर तो सावधानी ज़रूरी

 Posted by at 17:49  Comments Off on रिस्क चरम पर तो सावधानी ज़रूरी
Nov 052017
 
रिस्क चरम पर तो सावधानी ज़रूरी

शेयर बाज़ार के निवेश का रिस्क कभी मिटता नहीं। यह कभी एक सीमा से ज्यादा घट नहीं सकता। कभी-कभी तो यह ज्यादा ही बढ़ा होता है। मसलन, फिलहाल निफ्टी-50 सूचकांक 26.87 के पी/ई अनुपात पर ट्रेड हो रहा है। इससे पहले 14 जनवरी 2008 को वो 27.89 के पी/ई अनुपात पर ट्रेड हुआ है। ज़ाहिर […]

पुराने को समेटकर बढ़ता है नया

 Posted by at 16:04  Comments Off on पुराने को समेटकर बढ़ता है नया
Oct 222017
 
पुराने को समेटकर बढ़ता है नया

ज़िंदगी कोई आलू का पराठा नहीं कि किसी ने बनाया और आप खा गए। अर्थव्यवस्था भी इतनी पालतू नहीं कि सरकार ने कहा और वो उछलने लग जाए। बराबर ऐसा कुछ आता रहता है कि पुराना मिटकर नए में समा जाता है। नया पुराने को समेट कर आगे बढ़ता रहता है। इसलिए निवेश और उससे […]

शेयरों की ज्वाला पर टूटते पतंगे

 Posted by at 12:17  Comments Off on शेयरों की ज्वाला पर टूटते पतंगे
Oct 152017
 
शेयरों की ज्वाला पर टूटते पतंगे

पानी ऊपर से नीचे बहता है। लेकिन बचत हमेशा कम से ज्यादा रिटर्न की तरफ बहती है। इधर ब्याज दर घटने पर लोगबाग एफडी से धन निकालकर म्यूचुअल फंडों की इक्विटी स्कीमों में लगाने लगे हैं। शेयरों की ज्वाला पर भी पतंगे टूटे पड़े हैं। इससे म्यूचुअल फंडों और ब्रोकरों की कमाई बढ़ गई है। […]

ज्यादा लालच दे ठगों को न्यौता

 Posted by at 11:41  Comments Off on ज्यादा लालच दे ठगों को न्यौता
Oct 082017
 
ज्यादा लालच दे ठगों को न्यौता

शेयर बाज़ार को लेकर बहुतों को लगता है कि यहां हर महीने आराम से 15-20% रिटर्न कमाया जा सकता है। कुछ तो ऐसा स्टॉक पूछते हैं जिसमें दो-तीन महीने में धन कई गुना हो जाए। इस लालच का फायदा उठाकर ठग उनकी सारी जमापूंजी साफ कर जाते हैं। जब अच्छे से अच्छे बिजनेस में सालाना […]

कहां मिले सही वित्तीय सलाहकार!

 Posted by at 16:42  Comments Off on कहां मिले सही वित्तीय सलाहकार!
Oct 012017
 
कहां मिले सही वित्तीय सलाहकार!

जिस तरह खुद दवा लेना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है, उसी तरह मनमर्जी से निवेश करना वित्तीय सेहत के लिए घातक हो सकता है। लेकिन आज डॉक्टर तो हर बाज़ार व मोहल्ले में मिल जाएंगे, जबकि वित्तीय सलाहकार नहीं मिलते। बहुत हुआ तो बीमा एजेंट मिलते हैं जिनका मुख्य मकसद कमीशन कमाना है। ऐसे में […]

देखें धंधे का दम, दाम की सुरक्षा

 Posted by at 10:10  Comments Off on देखें धंधे का दम, दाम की सुरक्षा
Sep 242017
 

निवेश करना, कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है, टाइप चीज़ नहीं है। न ही जोश का निवेश फलदायी होता है। शेयर बाज़ार में निवेश करते वक्त आप ऐसी कंपनी पर दांव लगा रहे होते हैं जिसका प्रबंधन आप से स्वतंत्र है। इसलिए दो बातों को समझना ज़रूरी है। एक, उसका बिजनेस मॉडल कितना चौकस […]

कामयाब निवेशक कुशल जासूस!

 Posted by at 10:56  Comments Off on कामयाब निवेशक कुशल जासूस!
Sep 172017
 
कामयाब निवेशक कुशल जासूस!

अगर आपको लंबे समय का कामयाब निवेशक बनना है तो पहले कुशल जासूस बनना होगा। हर कंपनी एक अलग तरह का रहस्य है जिसे आपको सुलझाना है। आपको सही सवाल पूछने की कला विकसित करनी होगी। अपने दिमाग को इस तरह प्रशिक्षित करना होगा कि वह कंपनियों के बीच उभर रहे पैटर्न को खटाक से […]