निफ्टी की दशा-दिशा [सोमवार 21 मई 2018] शुरुआती रुख⬆ सुबह: 8.05 बजे

पिछला बंद शुक्र का उच्चतम शुक्र का न्यूनतम शुक्र का बंद संभावित दायरा
10682.70 10674.95 10589.10 10596.40 10565/10655

 

तथास्तु

यह शेयर बाज़ार में लंबे समय के निवेश की सेवा है।

बिजनेस में चलता है सच का दम

 Posted by at 12:35  Comments Off on बिजनेस में चलता है सच का दम
May 202018
 
बिजनेस में चलता है सच का दम

झूठ ज्यादा नहीं चलता। देर-सबेर उसका बेड़ा गरक हो जाता है। यह नियम निजी जीवन से लेकर राजनीति और बिजनेस तक पर लागू होता है। सत्यम कंप्यूटर्स को उसका झूठ ही ले डूबा। दो साल पहले निर्यात पर निर्भर एक नामी कंपनी का धंधा इसलिए मार खा गया क्योंकि अमेरिकी ग्राहकों को पता चल गया […]

नए की चमक, पुराने में भी दम

 Posted by at 12:41  Comments Off on नए की चमक, पुराने में भी दम
May 132018
 

अक्टूबर 2007 में चार लाख रुपए से बनाई गई कंपनी फ्लिपकार्ट का मूल्यांकन दस साल बाद 2000 करोड़ डॉलर (करीब 1.35 लाख करोड़ रुपए) हो जाता है, वो भी तब उसका पिछले साल उसका घाटा 68% बढ़कर 8771 करोड़ रुपए हो गया था। यह है नए बिजनेस में छिपी संभावना और उसके मूल्यांकन का एक […]

हर सरकारी कंपनी वाहियात नहीं!

 Posted by at 07:05  Comments Off on हर सरकारी कंपनी वाहियात नहीं!
May 062018
 

सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार की कीमत सरकारी कंपनियों को चुकानी पड़ती है। वरना, ऐसा मानने की कोई वजह नहीं कि निजी कंपनियां प्रबंधन के लिहाज़ से बेहतर होती हैं। बल्कि, सरकारी कंपनियां ज्यादा प्रोफेशनल तरीके से चलाई जा सकती हैं। शिक्षा व स्वास्थ्य ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें सरकार को रहना ही चाहिए। कुछ और भी […]

ऋण से दबी कंपनी तो करें तौबा

 Posted by at 06:25  Comments Off on ऋण से दबी कंपनी तो करें तौबा
Apr 292018
 
ऋण से दबी कंपनी तो करें तौबा

कंपनियां यूं ही अचानक नहीं डूब जातीं। उनके डूबने का एक अहम कारण है ऋण। कंपनी ऋण के भारी बोझ से दबी है और उसका परिचालन लाभ तय देय ब्याज के दो-तीन गुना से ज्यादा नहीं है तो वह डूब सकती है। इसलिए हमें कभी भी एक गुने से ज्यादा ऋण-इक्विटी अनुपात वाली कंपनी में […]

वहां सुरक्षा, यहां जोखिम जबरदस्त!

 Posted by at 07:05  Comments Off on वहां सुरक्षा, यहां जोखिम जबरदस्त!
Apr 222018
 
वहां सुरक्षा, यहां जोखिम जबरदस्त!

लंबे समय का निवेश भविष्य में फल देता है। पर भविष्य किसी ने नहीं देखा। मुमकिन है कि अभी टनाटन चल रही कंपनी चार-पांच साल बाद बैठ जाए और अपने साथ हमारा धन भी डुबा डाले। यही आशंका शेयर बाज़ार में निवेश का रिस्क है। एफडी में अमूमन मूलधन पर तय ब्याज मिलता रहेगा। लेकिन […]

जमते-जमते अब जमा लिया ठौर

 Posted by at 12:11  Comments Off on जमते-जमते अब जमा लिया ठौर
Apr 152018
 
जमते-जमते अब जमा लिया ठौर

इंसान की तरह कंपनियों के भी जीवन में एक दौर बनने और जमने का होता है। इस दौरान उसे बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखने पड़ते हैं। लेकिन इस दौर की समाप्ति के बाद जीवन एक ढर्रा पकड़ लेता है और बेरोकटोक आगे बढ़ता जाता है। जहां इंसान के जीवन का अंत निश्चित है, वहीं कंपनियों का […]

इधर राजनीति, उधर व्यापार युद्ध

 Posted by at 07:15  Comments Off on इधर राजनीति, उधर व्यापार युद्ध
Apr 082018
 

देश में राजनीति की खींचतान और दुनिया में अमेरिका व चीन के बीच व्यापार युद्ध। शेयर बाज़ार में फिलहाल अनिश्चितता छाई है। मुमकिन है कि एक कदम आगे, दो कदम पीछे चलता बाज़ार अगले कुछ महीनों में काफी गिर जाए। लेकिन लंबे समय के निवेशकों को इस पर दुखी होने के बजाय खुश होना चाहिए […]

सेंसेक्स से ज्यादा रिटर्न बाज़ार में

 Posted by at 12:30  Comments Off on सेंसेक्स से ज्यादा रिटर्न बाज़ार में
Apr 012018
 
सेंसेक्स से ज्यादा रिटर्न बाज़ार में

बीते वित्त वर्ष 2017-18 में बीएसई में लिस्ट कंपनियों का बाज़ार पूंजीकरण 20.7 लाख करोड़ रुपए बढ़ गया। इस तरह निवेशकों की दौलत 17.03% बढ़ी है। वो भी तब, जब बाज़ार दो महीने पहले हासिल शीर्ष शिखर से नीचे आ चुका है। वहीं, सेंसेक्स पूरे वित्त वर्ष में 11.3% बढ़ा है, जबकि 29 जनवरी के […]

तलहटी ही निवेश का पैमाना नहीं

 Posted by at 05:25  Comments Off on तलहटी ही निवेश का पैमाना नहीं
Mar 252018
 
तलहटी ही निवेश का पैमाना नहीं

निफ्टी इस साल 29 जनवरी के ऐतिहासिक शिखर 11,171.55 से 16 मार्च के सबसे निचले स्तर 9951.90 तक 10.92% गिर चुका है। उस दिन एनएसई में 312 कंपनियों ने 52 हफ्तों की तलहटी पकड़ ली। इनमें स्टेट बैंक, अंबुजा सीमेंट्स, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, अडानी पावर, कैडिला, ल्यूपिन, पीएफसी, सीमेंस व टाटा मोटर्स जैसी कई नामी कंपनियां […]

दौलत का ठौर हैं अच्छी कंपनियां

 Posted by at 12:55  Comments Off on दौलत का ठौर हैं अच्छी कंपनियां
Mar 182018
 
दौलत का ठौर हैं अच्छी कंपनियां

एफडी में निवेश गेहूं-धान लगाकर सीजन-सीजन फसल काट लेने जैसा है। वहीं, शेयर बाज़ार में लिस्टेड संभावनामय कंपनियों में निवेश पेड़ लगाने जैसा है जिसका फायदा आपके बाद आपके परिजन भी उठा सकते हैं। इसलिए ज़रूर सोचें कि क्या आपने अपने समय में उभरती कंपनियों को देख-समझकर उनके मालिकाने का सीमित हिस्सा खरीदा या नहीं। […]